For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

आटे में इन चीज़ों को पीसकर मिलाने से रोटियां बनेंगी औषधीय: Ingredients in Flour

08:00 AM Apr 30, 2024 IST | Rajni Arora
आटे में इन चीज़ों को पीसकर मिलाने से रोटियां बनेंगी औषधीय  ingredients in flour
Ingredients in Flour
Advertisement

Ingredients in Flour: क्या आप जानते हैं कि आपकी यह रोटियां जो कि आप रोजाना दिन में दो या तीन टाइम खाते हैं। ये न ही सिर्फ आपका पेट भरती हैं बल्कि यह हमारी सेहत पर भी बहुत ही गहरा असर डाल सकती है। वैसे कितना अच्छा हो कि अगर हमारी ये रोटियां ही हमारे लिए दवा का काम करने लग जाएं और हमारी छोटी-बड़ी कई तरह की बीमारियों को रोकने का, उनसे हमें बचाने का काम करने लग जाएं। ऐसी ही कुछ पाॅवरफुल ऐसी ही कुछ पाॅवरफुल चीजों के बारे में बता रहे हैं जो मेडिसिनल हर्ब्स यानी औषधीय गुणों से युक्त जड़ीबूटी की कैटेगरी में आती हैं। इन चीजों को अपने आटे में मिलाकर हम बिना ज्यादा एक्स्ट्रा एफर्ट करे, अपने डेली रूटीन में बहुत ही आसानी से शामिल कर सकते हैं और इनका फायदा हासिल कर सकते हैं।

Also read: नरम और फूली हुई रोटियां बनाने के लिए अपनाएं यह छोटे-छोटे टिप्स

मेथी दाना

मेथी दाना न ही सिर्फ आपके खाने को टेस्टी बनाने का काम करता है बहुत सारे मसालों में इस्तेमाल होता है, बल्कि यह आपकी सेहत के लिए भी चमत्कारी फायदे रखता है। मेथी दाना खाने का सबसे बड़ा फायदा है कि यह आपकी बढ़ी हुई ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए यह बहुत ही बढ़िया चीज है । डायबिटीज के मरीजों के लिए एक चमत्कारी औषधि की तरह काम करता है और बढ़ी हुई ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ-साथ बॉडी के अंदर इंसुलिन के प्रोडक्शन को भी इंप्रूव करता है। मेथी दाने आपके लिवर और डाइजेशन को भी मजबूत बनाता है। जिससे कि खाना अच्छी तरीके से पचता है और शरीर बॉडी का मेटाबॉलिज्म दुरूस्त होता है। इससे आपको वजन घटाने में भी मदद मिलती है। रिसर्च से भी यह बात अब साबित हो चुकी है कि मेथी दाना ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए बहुत ही ज्यादा कारगर है।

Advertisement

आमतौर पर मेथी दाने का पानी पिया जाता है,लेकिन मेथी दाने को पीसकर अगर आप इसको अपने आटे के अंदर मिला लेंए तो इसे बिना किसी एक्स्ट्रा एफर्ट के बड़ी आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं । इसके लिए सबसे पहले सिर्फ मेथी दाने के बीजों को तवे पर हल्का सा पहले भून लें । ठंडा होने के बाद इसको ग्राइंडर में डाल के बारीक पीस कर स्टोर कर लें। जब भी आप अपनी रोटियां बनाएं तो अपने आटे के हिसाब से एक से डेढ चम्मच मेथी दाना डालकर आटा गूंथ लें। ध्यान रखें कि मेथी दाने का पाउडर बहुत ज्यादा नहीं मिलाएं, वरना आपकी रोटियां कड़वी हो सकती हैं ।

अलसी के बीज

Flax Seeds
Flax Seeds

अलसी के बीज दिल की सेहत और जोड़ों के दर्द के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होते हैं। अगर आपको दिल से संबंधित कोई भी बीमारी है या फिर अगर आपके जोड़ों में और हड्डियों में दर्द रहता है, हड्डियां कमजोर हो गई हैं, जोड़ कमजोर हो गए हैं ,जोड़ घिसने लग गए हैं तो आपको अपने आटे के अंदर अलसी के बीजों को मिलाकर जरूर खाना चाहिए। अलसी के बीज ओमेगा 3 फैटी एसिड से भी भरपूर होते हैं जो दिल की सेहत के लिए बहुत ही बढ़िया चीज है। ये आपके नसों को नरम और मुलायम बनाते हैं ,लचीला बनाते हैं, ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल में रखते हैं और जोड़ों के अंदर ग्रीस को बढ़ाकर वहां पर सूजन और दर्द को भी कम करने का काम करते हैं।

Advertisement

अलसी के बीज को अपने आटे के अंदर मिलाने के लिए आपको सबसे पहले इन्हें एक तवे के ऊपर हल्की आंच पे ड्राई रोस्ट करें। ठंडा होने के बाद इनको बारीक पीसकर पाउडर बना लें। हर चार रोटी के आटे के अंदर लगभग एक टी-स्पून अलसी का यह पाउडर मिलाएं। अलसी का टेस्ट सूखे मेवे जैसा होता है, इसलिए जब आप इसकी रोटियां बनाएंगे तो आपकी रोटियों के अंदर एक अलग तरह का फ्लेवर आ जाएगा जो निश्चय ही आपको जरूर पसंद आएगा।

अजवाइन

अजवाइन पेट की गर्मी, गैस और एसिडिटी के लिए एक रामबाण दवा है। इन्हें अपनी रोटियों में शामिल करने से आपको पेट संबंधी समस्याओं में काफी आराम मिलता है। अजवाइन को आटे में मिलाने के लिए आप सबसे पहले इसे तवे के ऊपर हल्का सा पहले भून लें और फिर ग्राइंडर में डाल के बारीक पीस कर स्टोर कर लें। आप इसे डायरेक्टली अपने आटे के अंदर मिलाकर गूंद सकते हैं और रोटियां बना सकते हैं। वैसे अजवाइन का जो टेस्ट थोड़ा स्ट्रांग या तेज होता है, इसलिए कम मात्रा में इसको शुरुआत में लें। आप अजवाइन की क्वांटिटी को अपने हिसाब से कम या ज्यादा भी कर सकते हैं। वैसे करीब-करीब आधा किलो आटे के अंदर एक टी-स्पून अजवाइन का पाउडर मिलाना काफी होता है।

Advertisement

तिल

Sesame
Sesame

तिल हमारी हड्डियों और ओवरऑल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद है । इसके अंदर मौजूद कैल्शियम और एंटीऑक्सीडेंट्स हड्डियों को मजबूत बनाने में और बॉडी को हेल्दी रखने में मदद करते हैं । तिल की तासीर काफी गर्म होती है । लोग इसे सर्दियों में खाना प्रेफर करते हैं। तिल को आटे में मिलाने के लिए इन्हें तवे के ऊपर थोड़ा सा भून लें और मिक्सर ग्राइंडर में डाल के पीस कर स्टोर कर लें। हर आधा किलो आटे के अंदर एक या दो टी-स्पून तिल का पाउडर मिलाना काफी होता है । इससे रोटियों का टेस्ट काफी बेहतर बनता है और न्यूट्रिशन भी बढ़ता है । तिल मिले हुए आटे की रोटियां खाना उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है जिनकी या तो हड्डियां कमजोर हो गई हो, जिनमें कैल्शियम की कमी हो या फिर मेनोपॉज के बाद की उम्र की महिलाओं के लिए फायदेमंद है।

अमरंथ अनाज

यह एक ग्लूटेन फ्री अनाज है जो कि प्रोटीन से भरपूर होता है। यह शाकाहारी लोगों के लिए प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है। रिसर्च बताती है कि अमरंथ के अंदर मौजूद फाइबर्स और फाइटोस्ट्रोल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार होते हैं। यानी अगर आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ा हुआ है, खराब वाला कोलेस्ट्रॉल ज्यादा बढ़ गया है तो अपनी रोटियों के अंदर अमरथ के आटे को मिलाने से आप इस कोलेस्ट्रॉल को बड़ी ही आसानी से कंट्रोल में रख सकते हैं। अमरंथ को अपने आटे में मिलाने के लिए हर एक किलो गेहूं के आटे के अंदर लगभग एक कप अमरथ का आटा मिलाना काफी होता है। इससे रोटियों को बहुत बढ़िया फ्लेवर मिलेगा और रोटियों की न्यूट्रिशनल वैल्यू में इजाफा होगा।

सहजन की पत्तियां

Drumstick leaves
Drumstick leaves

इसमें विटामिन ए , सी और ई, कैल्शियम, पोटेशियम और प्रोटीन जैसे कई तरह के पोषक मिलते हैं । हमारी बॉडी की इम्युनिटी को बढ़ाने में सहायक है। साइंटिफिक स्टडीज बताती हैं कि मोरिंगा की पत्तियों में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण हमारे शरीर को कई तरह की अलग-अलग बीमारियों से बचाने का काम करते हैं।मोरिंगा पाउडर आपको मार्केट में आसानी से मिल जाता है। अपने एक टाइम के आटे के अंदर इसकी बस आधा-एक चम्मच मिलाएं। मोरिंगा का टेस्ट है थोड़ा तीखा और कड़वा होता है। आधा टीस्पून से ही शुरुआत करें और अपने टेस्ट के हिसाब से इसकी मात्रा बढ़ा सकते हैं।

रखें ध्यान

इन चीजों आप पीरियोडिकली अपने आटे में शामिल करें। यानी मान लीजिए हफ्ता भर या 10 दिन आपने एक चीज अपने आटे में मिलाईए तो उसके अगले हफ्ते आप दूसरी चीज मिलाइए, अगले हफ्ते फिर आप तीसरी चीज मिलाइए । इस तरह से रोटेशन में इन चीजों को इस्तेमाल करें ताकि इनके फायदे आपको रेगुलर तौर पर मिलते रहेंगे और एक ही चीज खाते हुए आप बोर भी नहीं होंगे ।

Advertisement
Tags :
Advertisement