For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

संभलें! जिसे आप मान रहे हैं लू के लक्षण, वो हो सकता है कोविड का नया अटैक 

06:28 PM Jun 12, 2024 IST | Ankita Sharma
संभलें  जिसे आप मान रहे हैं लू के लक्षण  वो हो सकता है कोविड का नया अटैक 
It gives you relief in cold and cough
Advertisement

दुनियाभर को खून के आंसू रुलाने वाला कोरोना एक बार फिर से लोगों को डरा रहा है। कोरोना महामारी के नए वेरिएंट 'फिलर्ट' ने हेल्थ एक्सपर्ट्स के साथ ही लोगों की भी टेंशन बढ़ा दी है। अमेरिका में कोविड का यह नया वेरिएंट पहले से ही कहर बरपा रहा है और अब इसने भारत में भी दस्तक दे दी है। चिंता की बात यह है कि इस वेरिएंट के कई लक्षण लू लगने के कारण सामने आने वाले लक्षणों से मिलते-जुलते हैं। ऐसे में लोग इसे लेकर कंफ्यूज भी हो रहे हैं। क्या है कोविड का यह नया वेरिएंट और कैसे आप कर सकते हैं इससे खुद का बचाव, आइए जानते हैं।

यह नया कोरोना वेरिएंट फिलर्ट केपी.2 ओमिक्रॉन का सब-वेरिएंट है।
This new corona variant is a sub-variant of Filter KP.2 Omicron.

यह नया कोरोना वेरिएंट फिलर्ट केपी.2 ओमिक्रॉन का सब-वेरिएंट है। इसे केएन .1 वेरिएंट का वंशज माना जा रहा है। इस केपी.2 म्यूटेशन को ही फिलर्ट नाम दिया गया है। विशेषज्ञ इसे लेकर इसलिए परेशान हैं, क्योंकि यह एंटीबॉडी को भी प्रभावित करता है। जिसके कारण जो लोग कोरोना वैक्सीन लगवा चुके हैं, वे भी इस वेरिएंट से संक्रमित हो सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार यह वेरिएंट तेजी से इंफेक्शन फैलने का कारण बनता है। यह शक्तिशाली वेरिएंट बहुत ही शातिर है और एंटीबॉडी से बचने की क्षमता भी रखता है। इस वेरिएंट से संक्रमित होने पर कई लक्षण नजर आते हैं। इससे संक्रमित शख्स को तेज बुखार, खांसी, पाचन संबंधी परेशानियां और थकान जैसी समस्याएं होती हैं।  यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि तेज बुखार, सिरदर्द, चक्कर आना और घबराहट, मांसपेशियों में ऐंठन, थकान और कमजोरी जैसे लक्षण लू लगने पर भी नजर आते हैं। ऐसे में आप इन्हें लेकर कंफ्यूज नहीं हों, अगर आप लंबे समय से इन परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह पर कोरोना टेस्ट करवाएं।

Advertisement

विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना का यह नया वेरिएंट तेजी से फैलता है। यह छींकने या खांसने से भी फैलता है। जिन लोगों की इम्यूनिटी कमजोर है, उन्हें इससे ज्यादा खतरा है। खासतौर पर बुजुर्गों, बच्चों और गर्भवती महिलाओं को संभलकर रहने की जरूरत है। वहीं जो लोग पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित हैं, उनमें भी यह इंफेक्शन होने का डर ज्यादा है।

हेल्दी डाइट से आप इस नए वेरिएंट से अपना बचाव कर सकते हैं।
You can protect yourself from this new variant with a healthy diet.

हेल्दी डाइट से आप इस नए वेरिएंट से अपना बचाव कर सकते हैं। अपनी डाइट में सभी विटामिन, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट आदि शामिल करें। इससे आपका इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होगा और आप वायरस से बच पाएंगे।

Advertisement

कोरोना के सभी वेरिएंट की तरह यह नया वेरिएंट भी भीड़ भाड़ के कारण ज्यादा फैलने का डर है। इसलिए सोशल गैदरिंग, गेट-टू गेदर, वाटर पार्क आदि में जाने से बचें। सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं। कम लोगों से मिलें, लोगों से हाथ न मिलाएं, गले न मिलें, इन सभी से आप इस वेरिएंट से बच सकते हैं।

अब वो दौर फिर लौट आया है, जब आप बार-बार अपने हाथ धोएं और हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें। इससे इस वायरस के फैलने की आशंका कम होती है।

Advertisement

एक बार फिर से मास्क यूज करने का समय भी लौट आया है। घर से बाहर निकलते समय चेहरे पर मास्क जरूर लगाएं। इस मास्क को बाहर से आने के बाद वॉश करें और उसके बाद ही यूज करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement