For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

महाभारत में कौन थीं दुर्योधन की पत्नी भानुमति, जिससे अर्जुन ने भी की थी शादी, जानिये कारण: Duryodhan Wife Story

महाभारत में दुर्योधन की पत्नी भानुमति का भी वर्णन मिलता है। युद्ध समाप्ति के बाद भानुमति ने अर्जुन के साथ विवाह रचा लिया था।
06:00 AM Oct 19, 2023 IST | Naveen Parmuwal
महाभारत में कौन थीं दुर्योधन की पत्नी भानुमति  जिससे अर्जुन ने भी की थी शादी  जानिये कारण  duryodhan wife story
Duryodhan Wife Story
Advertisement

Duryodhan Wife: महाभारत को सबसे विनाशकारी युद्ध माना गया है। 18 दिन तक चले महाभारत के युद्ध में पांडवों की विजय हुई थी। श्रीकृष्ण ने पांडवों की ओर से युद्ध में भाग लिया था और अर्जुन के रथ के सारथी बने थे। महाभारत के सभी पात्रों का रोचक इतिहास रहा है। महाभारत में युधिष्ठिर, भीम, कर्ण और दुर्योधन जैसे वीर योद्धाओं ने साहस का परिचय दिया था। महाभारत में स्त्रियों से जुड़ी कहानियां भी काफी प्रसिद्ध हुईं, जिसमें द्रौपदी का चीर हरण हो या फिर कुंती के पांच पुत्र की कहानी। महाभारत में पांडवों और कौरवों के साथ-साथ द्रौपदी के अलावा भानुमति भी मुख्य पात्रों में से एक थी, पर इनकी कहानी अधिक प्रचलित नहीं हो पाई। भानुम ति महाभारत के योद्धा दुर्योधन की पत्नी थीं। महाभारत में दुर्योधन की पत्नी होते हुए भी लोग भानुमति से इतने वा किफ नहीं है। लेकिन, भानुम ति का विवाह अर्जुन से भी हुआ था। ऐसे में आज हम आपको भानुमति से जुड़े रोचक तथ्य बताएंगे कि उन्होंने आखिर अर्जुन से शादी क्यों की थी। तो चलिए जानते हैं।

अर्जुन और भानुमति के विवाह की कहानी

Duryodhan Wife Story
Duryodhan Wife Story-Wedding Story

एक पौराणिक कथा के अनुसार, महाभारत के युद्ध का कारण दुर्योधन को माना जाता है। कथा में वर्णन मिलता है कि किस प्रकार से दुर्योधन ने द्रौपदी का चीर हरण करवाया था, जिसके बाद महाभारत के युद्ध की घोषणा हुई। दुर्योधन की पत्नी का नाम भानुमति था। भानुमति कई गुणों में संपन्न थीं और वह कांबोज के राजा चंद्रवर्मा की पुत्री थीं। विवाह योग्य होने पर राजा चंद्रवर्मा ने अपनी पुत्री के विवाह के लिए स्वयंवर रचा, जिसमें बड़े बड़े दिग्गज योद्धा शामिल हुए। इसमें दुर्योधन भी शामिल हुए थे। लेकिन, भानुमति ने दुर्योधन का चुनाव ना करके माला लेकर आगे बढ़ने लगी। इससे दुर्योधन क्रोधित हो उठे और जबरन अपने गले में माला पहनवाली और भानुमति को पत्नी बना लिया। विवाह के बाद दोनों के दो बच्चे, पुत्र लक्ष्मण और पुत्री लक्ष्मणा को जन्म दिया था।

पौराणिक कथाओं के अनुसार, भानुमति की पुत्री लक्ष्मणा भी उनकी तरह काफी सुंदर व चतुर थीं। जब वह विवाह योग्य हुई तो दुर्योधन ने उसका विवाह कर्ण के पुत्र वृषसेन से करने की योजना बना ली। लेकिन, उनके विवाह में भी दुर्योधन विवाह जैसी घटना घटी। दुर्योधन ने लक्ष्मणा के विवाह के लिए एक स्वयंवर का आयोजन किया जिसमें पहले से तय था कि लक्ष्मणा किसे वरमाला पहनाएंगी। लेकिन, कृष्ण के पुत्र साम ने जबरदस्ती माला अपने गले में पहना कर विवाह रचा लिया।

Advertisement

ऐसा माना जाता है कि जब युद्ध की समाप्ति हुई और दुर्योधन की मृत्यु हो गई, जब पांडवों ने अपने वंश को आगे बढ़ाने के लिए भानुमति को पत्नी बनाने का विचार किया। इसके बाद भानुमति ने अर्जुन से विवाह रचा लिया और पांडवों के परिवार का सदस्य बन गई।

यह भी पढ़ें: नवग्रहों की अशुभ स्थिति बना सकती है कंगाल, करें इन मंत्रों का जाप: Navgrah Mantra

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement