For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

उम्र के हिसाब से दें खुद को पोषण: Nutrition by Age

09:30 AM Jul 11, 2024 IST | Pinki
उम्र के हिसाब से दें खुद को पोषण  nutrition by age
Provide Nutrition According to Your Age
Advertisement

Nutrition by Age: अगर आप अपनी फिटनेस लेवल को अनदेखा कर रहे हैं, तो अब समय आ गया है कि आप जागें और ध्यान से देखें कि आप क्या खा रहे हैं। जबकि बुनियादी पोषण संबंधी जरूरतें सभी के लिए समान हैं। सभी आयु वर्ग और चाहे आप पुरुष हों या महिला लेकिन कुछ ऐसी खास जरूरतें हैं जिन्हें जीवन के अलग-अलग चरणों में पूरा करने की जरूरत होती है। जैसे-जैसे उम्र के साथ शरीर बदलता है तो हम जो खाना खाते हैं उसमें भी बदलाव की जरूरत होती है।

Also read: पोषण के पांच तरीकों से होगी कुपोषण की रोकथाम: Methods of Nutrition

20-30 की उम्र की बिजी लाइफ

  • इस समय काम ज्यादा होता है, जिंदगी काफी बिजी होती है इसलिए अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए ज्यादा समय और बैंडविड्थ नहीं होती। कभी भी ऐसी गलती न करें। सही खाने के लिए समय निकालें।
  • पर्याप्त कैलोरी लें। कभी भी भोजन न छोड़ें या पोषण से रहित भोजन न खाएं। इन दो दशकों के दौरान आप आमतौर पर बहुत ज्यादा सक्रिय रहते हैं, इसलिए अपने एनर्जी लेवल को बनाए रखने के लिए एक सुपर हेल्दी डाइट लेना सुनिश्चित करें।
  • नाश्ते के लिए जरूर समय निकालें क्योंकि आपको थकान से बचने के लिए सही समय पर ऊर्जा की जरूरत होती है। वास्तव में हेल्दी नाश्ता एक ऐसा नियम है जिस पर कोई समझौता नहीं किया जा सकता। हर दिन अच्छे वसा, लीन प्रोटीन, कॉम्पलेक्स कार्ब्स और कुछ फाइबर का कॉम्बिनेशन लें। इसके बिना कभी भी बाहर न निकलें।
  • हमेशा बैलेंस्ड और रेनबो डाइट लेना काफी अच्छा माना जाता है। यह आहार में विभिन्न विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित करेगा, जिससे शरीर की ताकत और प्रतिरक्षा बनी रहेगी।
  • आप अपने टीनेज में जो भी खाते थे, उसमें अब वसा का सेवन कम करने का समय आ गया है। महीने में 500 ग्राम से ज्यादा विजिबल फैट न लें, जो मोटे तौर पर हर दिन लगभग 3-4 चम्मच होता है। अपने आहार में ध्यानपूर्वक गुड फैट्स को शामिल करें। खासतौर से, आप ओमेगा-3 से भरपूर स्रोतों को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं।
  • इस चरण के दौरान पानी का सेवन बहुत कम हो जाता है, क्योंकि अक्सर व्यक्ति पर्याप्त पानी पीना भूल जाता है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ जैसे- पानी, सब्जियों का रस, नारियल पानी और चाय (तुलसी, अदरक, ग्रीन टी) पिएं। प्रतिदिन कम से कम 2-3 लीटर पीने का लक्ष्य रखें।
  • शराब का सेवन दिशानिर्देशित मात्रा तक ही सीमित रखें। प्रति सप्ताह 14 यूनिट से ज्यादा नहीं। जिम्मेदारी से शराब पीना आपके आने वाले दशकों के लिए स्वस्थ बीमा होगा।
  • हम सभी अपने पेट और सेहत के आपसी संबंध के बारे में पर्याप्त जानते हैं। यह कितना स्वस्थ है, यह हमारे लिए कई महत्वपूर्ण चीजों को निर्धारित करता है- हमारे इम्यून, दीर्घायु, एनर्जी लेवल, वजन, यहां तक कि हमारी स्किन के ग्लो को भी। इसलिए पेट के लिए स्वस्थ आहार खाना शुरू करें। नियमित रूप से आहार में फरमेंटेड फूड आइटम्स शामिल करें और जंक, प्रोसेस्ड और पैकेज्ड खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें। सुनिश्चित करें कि आप अपने आहार में प्रोबायोटिक शामिल करें ताकि पेट का स्वास्थ्य अच्छा रहे।
  • पेट के अनुकूल आहार (पेट और मस्तिष्क के बीच संबंध के कारण) खाने से आपका मूड भी अच्छा रहेगा। अब यह हर कोई जानता है कि खराब पाचन तंत्र वास्तव में चिंता, अवसाद और ब्रेन फॉग का कारण हो सकता है। और यह भी तेजी से स्पष्ट हो रहा है कि अवसाद न केवल खुशी के हार्मोन सेरोटोनिन की कमी का परिणाम हो सकता है, बल्कि पेट और शरीर में क्रॉनिक इन्फ्लेमेशन का एक उपोत्पाद भी हो सकता है।
  • कैल्शियम पुरुषों के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि महिलाओं के लिए। हड्डियों का घनत्व हमारे 20 के दशक के अंत तक बढ़ता रहता है। इसलिए जीवन में आगे चलकर ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करने के लिए पर्याप्त कैल्शियम और विटामिन के और डी लेना सुनिश्चित करें। इन्हें डेयरी उत्पादों, हरी पत्तेदार सब्जियों, अंडे की जर्दी और सैल्मन को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं।
  • आज दिल के दौरे कम उम्र में ही हो रहे हैं। हमारी बिजी लाइफस्टाइल के कारण, तीस की उम्र अब नए जोखिम वाले दशक बन गए हैं। अगर लोग खुद का और अपने दिल का ख्याल रखें तो दिल के दौरे को रोका जा सकता है। भरपूर मात्रा में फल और सब्जियों वाला संतुलित आहार- विटामिन बी6, फोलिक एसिड और विटामिन सी के बेहतरीन स्रोत- इसके स्तरों को नियंत्रित रखने के लिए महत्वपूर्ण है। आहार में हार्ट फ्रेंडली फूड्स को भी शामिल करें।
Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement