For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

बच्चों को स्पोर्ट्स या एनर्जी ड्रिंक देने से हो सकते हैं ये नुकसान: Health Risks of Energy Drinks

07:00 PM Jul 05, 2024 IST | Abhilasha Saksena
बच्चों को स्पोर्ट्स या एनर्जी ड्रिंक देने से हो सकते हैं ये नुकसान  health risks of energy drinks
Health Risks of Energy Drinks
Advertisement

Health Risks of Energy Drinks: आज कल युवाओं के साथ-साथ बच्चों में भी एनर्जी ड्र‍िंक्‍स का ट्रैंड तेजी से बढ़ रहा है। ख़ासतौर पर ज्यादा खेलने वाले बच्चे इन स्पोर्ट्स ड्रिंक का खूब सेवन करते हैं। पैरेंट्स भी सोचते हैं कि कैलोरी में हाई होने की वजह से इससे बच्चों को तुरंत एनर्जी मिलती है और शारीरिक और मानसिक रूप से ज्यादा मज़बूत बनते हैं। यह ग़लतफ़हमी है क्योंकि शुगर और कैफ़ीन से युक्त ये स्पोर्ट्स या एनर्जी ड्र‍िंक्‍स आपके बच्‍चे की सेहत को ब‍िगाड़ सकती हैं। लंबे समय तक इनका सेवन करने से ना केवल बच्चों में मोटापे की समस्या होती है बल्कि बच्चों के दिमाग़, हार्ट, क‍िडनी और थायराइड ग्रंथ‍ि पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। जानते हैं इनसे बच्चों को किस तरह के नुक़सान हो सकते हैं-

Also read: पता चल जाये कि बच्चा आपसे झूठ बोल रहा है तो ऐसे करें हैंडल

कैल्‍श‍ियम की कमी

Health Risks of Energy Drinks
Energy drinks may affect your kids' health

बच्‍चों के शारीर‍िक व‍िकास ख़ासतौर पर हड्डियों की मज़बूती के ल‍िए कैल्‍श‍ियम जरूरी होता है, पर एनर्जी ड्र‍िंक का सेवन करने से शरीर में कैल्‍श‍ियम की कमी हो सकती है। दरअसल, एनर्जी ड्रिंक बनाने में फास्फोरिक एसिड और कार्बन डाई ऑक्साइड गैस का उपयोग किया जाता है। फास्फोरिक एसिड से बॉडी में कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है, जिससे बच्चों के दांत और हड्डियां कमजोर होने लगते हैं।

Advertisement

अन‍िद्रा और तनाव की समस्‍या

ज्यादा लंबे समय तक एनर्जी ड्र‍िंक्‍स का सेवन करने से बच्‍चे को जरूरत से ज्‍यादा कैलोरीज़ म‍िलती हैं ज‍िससे नींद की समस्‍या हो सकती है। साथ ही बच्‍चों में च‍िंता और एंग्‍जाइटी की समस्‍या भी हो सकती है। कैफीन बॉडी में कॉर्टिसोल हार्मोन को बढ़ाता है, जिससे तनाव बढ़ सकता है। साथ ही इससे बच्चों की ध्यान केंद्रित करने की क्षमता भी कम होती है।

मोटापा बढ़ना

obesity and stress
These drinks can cause obesity and stress

इन एनर्जी ड्र‍िंक फ्रूक्‍टोज़ कॉर्न स‍िरप म‍िलाया जाता है इसलिए इनमें शुगर की मात्रा ज़रूरत से ज्यादा होती है। इन स्पोर्ट्स या एनर्जी ड्रिंक का ज्‍यादा सेवन बच्‍चों में मोटापे की समस्‍या को बढ़ा सकता है और इस वजह से आगे चलकर उनमें टाइप 2 डायबिटीज के लक्षण भी दिख सकते हैं।

Advertisement

बीपी की समस्या

आपको यह अजीब ज़रूर लग सकता है लेकिन यह बिलकुल सच है कि अगर बच्‍चे एनर्जी ड्र‍िंक्‍स का सेवन रोजाना करते हैं तो उनमें हाई बीपी की समस्‍या भी हो सकती है। इसके अलावा ये एनर्जी ड्रिंक बच्‍चों में ड‍िहाईड्रेशन, बेचैनी और भूख में कमी जैसी समस्याएँ भी पैदा कर सकती हैं।

दांत में कैविटी

एनर्जी ड्र‍िंक ज्यादा पीने से बच्चों के दांत में केविटी हो सकती है। शुगर की मात्रा ज्‍यादा होने के कारण यह दांत के इनेमल को नुकसान पहुंचता है याद रखें कभी भी बच्‍चा एनर्जी ड्र‍िंक का सेवन करे तो उसके बाद दांत को अच्‍छी तरह से साफ करे, कुल्‍ला करे।

Advertisement

तो, अगर आप भी अपने बच्चे को हमेशा स्पोर्ट्स या एनर्जी ड्रिंक देते हैं तो आज ही से सावधान हो जायें। इन ड्रिंक की जगह बच्चों को ताजे फलों का जूस, नारियल पानी, नींबू पानी, लस्सी, छाछ जैसी चीज़ें दें। इनके सेवन से बच्चे फ्रेश, एनर्जेटिक भी फील करेंगे और हमेशा स्वस्थ भी रहेंगे।

Advertisement
Tags :
Advertisement