For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

Iced Tea: गर्मी से राहत दिलाएं आइस-टी

12:30 AM Apr 25, 2022 IST | Sapna Jha
iced tea  गर्मी से राहत दिलाएं आइस टी
Iced Tea in Summers
Advertisement

Iced Tea: सर्दी हो या गर्मी- चाय-प्रेमियों को एक प्याला चाय की तलब हमेशा रहती है। दिन की शुरुआत अमूनन चाय की चुस्कियों से होती है। यह न केवल हमें तरोताजा या फ्रैश रखने में मदद करती है, स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी है। इसमें मौजूद कैफीन स्टीमुलेटर का काम करता है और हमें चुस्त-दुरुस्त रखता है। जबकि एल-थियेनाइन एंटीआॅक्सीडेंट कंपाउंड  दिमाग को अलर्ट रखतेे हैं और बेहतर तरीके से काम करने योग्य बनाते हैं।

 चाय-प्रेमियों के लिए तो गर्मी के मौसम में कई आॅप्शन हैं। कैफीन युक्त गर्म चाय के अलावा उन्हें हर्बल, ग्रीन, फ्लाॅवर वाली, ब्लैक, लैमन जैसे कई तरह के फ्लेवर वाली आइस-टी बहुत भाती हैं। दूध और चीनी के बजाय इनमें शहद और स्वाद बढाने के लिए नींबू का इस्तेमाल किया जाता है। चायपत्ती के अलावा इनमें अदरक, तुलसी, इलायची, दालचीनी, पुदीना, नीबू, जास्मिन, कैमामाइल जैसे फूल इस्तेमाल किए जाते हैं। उमस भरे गर्मी के मौसम में ये आइस-टीे शरीर को हाइड्रेट रखने के साथ कूलिंग इफेक्ट भी प्रदान करती हैं।

सबसे दिलचस्प है इन चायों को बनाने का तरीका । 

चाय बनाने के लिए आमतौर पर पानी में चायपत्ती डालकर उबाला जाता है और दूध-चीनी मिलाकर चाय बनाई जाती है । जबकि आइस-टी बनाने के लिए उबले हुए पानी में चायपत्ती या दूसरी चीजें डाली जाती हैं। उन्हें 5-10 मिनट के लिए छोड़ा जाता है ताकि उनका सत्व निकल सके। ठंडा होने पर शहद-नींबू  और बर्फ मिलाकर पिया जाता है। या फिर एक रात पहले ठंडे पानी में पसंदीदा चीजें भिगो कर रखी जाती है। सुबह उसे छानकर और बर्फ मिलाकर पिया जाता है।

Advertisement

गर्मियों में आइस-टी का सेवन है स्वास्थ्यप्रद

ग्रीन टी- यह कमीलया साइनेंसिस पौधे की सूखी पत्तियों से बनी ग्रीन टी शरीर मे ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करती है जिससे थकान, आलस दूर होती है। रात को सोने से पहले इसका सेवन  तनाव, चिंता या अनिद्रा, शरीर दर्द में आराम पहुंचाता है।  इसमें मौजूद एपिगालोकेटेचिन गैेलेट नामक एंटी आॅक्सीडेंट इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते है। फ्री रेडिकल्स के विकास को रोकतेे हैंे और क्लींजर की तरह विषैले पदार्थो को शरीर से बाहर निकालने में मदद करते है। गर्मी के मौसम में  विषाक्त भोजन खाने से अपच, पेट संबंधी समस्याओं में आराम पहुंचाती है और डायजेशन को दुरुस्त करती है।

पिपरमिंट टी-

पुदीने के पत्ते से बनी आइस टी गर्मियों में होने वाली पेट संबंधी समस्याओ में फायदेमंद है। पाचन प्रक्रिया को दुरुस्त बनाती है और इम्यूनिटी बढ़ाती है। धूप की तपिश में सनबर्न से बचाने और शरीर केा ठंडक प्रदान करने में सहायक है। शाम के समय पिपरमिंट टी का सेवन दिन भर की थकान दूर कर आपको तरेाताजा कर देती है। यह बोन मिनरल डेंसिटी को दुरुस्त रखने और हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक है। गर्मियों में हीट स्ट्रोक से बचाती है और शरीर को ठंडक प्रदान करती है।

Advertisement

बार्ले टी-

बार्ले टी गर्मियों के लिए बेहतर आइस-टी है जिसे ब्रूचा या रोस्टेड बार्ले टी भी कहा जाता है। शरीर को ठंडक प्रदान करने के साथ यह आइस टी चुस्त-फुर्त रखने में मदद करती है।  ब्लड सर्कुलेशन को सुचारू रूप् से चलाने में मदद करती है। इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है। कब्ज, एसिडिटी, ब्लाॅटिंग, क्रैम्प पडना जैसी पेट संबंधी समस्याओं में राहत प्रदान करती है।
केनबरी ग्रीन टी- क्लींजिंग डिटाॅक्स  के रूप् में यह चाय गर्मियों में काफी फायदेमद है। लीवर, किडनी, लिम्फनोड जैसे अंगों में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकाल कर डिटाॅक्स करती है। मेटाबाॅलिज्म में सुधार लाकर इम्यूनिटीे बढ़ाती है। इसमें मौजूद एंटी आॅक्सीडेंट पेट को इंफेक्शन से बचाते हैं और पेट को ठंडक प्रदान करते हैं। गर्मियों में हीट स्ट्रोक से बचाने में सहायक है। दिन में दो बार केैनबरी टी पीने से महिलाओं को यूटीआई इंफेक्शन में होने वाली समस्याओं में आराम मिलता है।

हिबिस्कस टी-

हिबिस्कस टी अपने रूबी लाल रंग, बेहतरीन स्वाद, कूलिंग इफेक्ट, रिफ्रेश करने वाले फ्लेवर और पौषक तत्वों से के कारण जानी जाती  है। यह आइस टी एंटी आॅक्सीडेंट्स, एंटी बैक्टीरियल गुणों, एनर्जी और फ्लेवर से भरपूर है। इसमें मौजूद  फ्लेवोनाॅड्स स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं।

Advertisement

जिंजर लेमन आइस टी-

प्राकृतिक एंटीसेप्टिक के रूप् में यह चाय इम्यूनिटी बूस्टर का काम करती है और शरीर के मेटाबाॅलिज्म केा मजबूत बनाती है। विटामिन सी और एंटीआॅक्सीडेंट्स से भरपूर जिंजर लेमन टी उमस भरे गर्मी के मौसम में डिहाइड्रेशन, उल्टी-मितली, डायरिया, एसिडिटी जैसी समस्याओं के लिए फायदेमंद है। लौंग के साथ मिलाकर यह चाय अच्छे माउथ फ्रैशनर का काम करती है।

रोज़मेरी हर्बल टी-

 इसमें मौजूद एंटी आॅक्सीडेंट और विटामिन सी गर्मी से राहत पहुंचाने के साथ-साथ इम्यूनिटी बढ़ाने ,ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करने में मदद करते हैं। ब्रेन के फंक्शन्स को इंप्रूव करने या याददाश्त बढ़ाने में मदद करती है। गर्मियों में बालो संबंधी समस्याओ में रोजमेरी टी का नियमित सेवन काफी फायदेमंद है। गर्मी की वजह से भूख कम लगने, पेट में जलन, एसिडिटी जैसी पेट संबंधी समस्याओं में रोजमेरी टी आराम पहुंचाती है। ज्यादा हेल्दी बनाने के लिए इसमें स्ट्राॅबेरी मिलाकर चाय बना सकते हैं।

रोज़ टी-

स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें नींबू और हिबिस्कस का फूल भी मिला सकते हैं।  विटामिन सी और एंटीआॅक्सीडेंट में प्रचुर गुलाब के फूल की चाय इम्यूनिटी केा मजबूत करने और गर्मियों में होने वाली पेट संबंधी समस्याओं को कम करने में सहायक है। इम्फ्लीमेटरी गुणों के कारण रोज़ टी पैन रिलीज करने, जोड़ों के दर्द में आराम पहुंचाने में सहायक है।   एंटी हिस्टेमाइन एग्जीमा, दाद-खाज जैसी स्किन और बालो की समस्याओं में आराम पहुंचाते हैं।

रसभरी टी-

गर्मियों में  पी जाने वाली रसभरी आइस टी शरीर को ठंडक प्रदान करने, हीट स्ट्रोक से बचानेे, हार्ट को स्वस्थ बनाने, कार्डियोवेस्कुलर डिजीज  को दूर करने , नसो में जमने वाले एथरोस्केैलराॅसिस कोलेस्ट्राॅल को हटाने में मदद करती है।

गार्लिक टी-

नींबू, शहद, पुदीना के पत्ते मिलाकर बनी लहसून की चाय सेहत के लिए फायदेमंद है। इसमें मौजूद एलियम, एलिसिन नामक एंटीबाॅयोटिक तत्व भोजन को विषाक्त करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करते है और फूड पाॅयजनिंग से बचाव में कारगर हंै।

Advertisement
Tags :
Advertisement