For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

करवाचौ‍थ पर 16 श्रृंगार क्‍यों है जरूरी, जानें क्‍या-क्‍या करें शामिल: Karwa Chauth 2023

जहां एक ओर वह पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं वहीं दूसरी ओर वह 16 श्रृंगार को लेकर उत्‍साहित रहती हैं।
12:00 PM Oct 31, 2023 IST | Garima Shrivastava
करवाचौ‍थ पर 16 श्रृंगार क्‍यों है जरूरी  जानें क्‍या क्‍या करें शामिल  karwa chauth 2023
Karwa Chauth 2023
Advertisement

Karwa Chauth 2023: करवाचौथ जैसे-जैसे करीब आता जाता है, वैसे-वैसे महिलाओं के उत्‍साह में वृद्धि होने लगती है। जहां एक ओर वह पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं वहीं दूसरी ओर वह 16 श्रृंगार को लेकर उत्‍साहित रहती हैं। इस दिन वह दुल्‍हन की तरह सजती हैं जिसकी तैयारी वह कई दिनों पहले से ही शुरू कर देती हैं। लेकिन अधिकांश महिलाएं नहीं जानती होंगी कि इस दिन 16 श्रृंगार का क्‍या महत्‍व है और सुहागन महिलाओं को ये क्‍यों करना चाहिए। 16 श्रृंगार को लेकर कई मान्‍यताएं प्रसिद्ध हैं जिसे आज भी फॉलो किया जाता है। तो चलिए जानते हैं करवाचौथ पर क्यों किया जाता है 16 श्रृंगार और मेकअप लिस्‍ट में किन चीजों को शामिल करना चाहिए।

करवाचौथ पर क्‍यों किया जाता है 16 श्रृंगार   

Karwa Chauth 2023
Why is makeup done on Karva Chauth

माना जाता है कि 16 श्रृंगार चंद्रमा की सोलह फेसेस यानी कलाओं से संबंधित है। सोलह श्रृंगार एक कल्‍चरल रिचुअल यानी सांस्‍कृतिक अनुष्‍ठान है जो न केवल महिलाओं की सुंदरता को बढ़ाने में मदद करता है बल्कि ये उनकी आयु में भी इजाफा करता है। वहीं कई लोगों का मानना है कि महिलाएं जो ज्‍वेलरी पहनती हैं वे उन्‍हें बुरी आत्‍माओं के प्रभाव से भी बचाती है।

किन चीजों को करें 16 श्रृंगार में शामिल

16 श्रृंगार सोलह आभूषण और सौंदर्य सामग्री हैं जिन्‍हें एक महिला करवाचौथ के लिए पहनती हैं।

Advertisement

बिंदी – बिंदी जिसे माथे के बीचोंबीच लगाया जाता है। ये दोनों भौंहों के बीच लगाई जाती है। ये कई रंगों में आती है।

Bindi
Bindi

लाल जोड़ा – करवाचौथ पर अक्‍सर लाल रंग का जोड़ा पहना जाता है। जिसे सुहाग का प्र‍तीक भी माना गया है।

Advertisement

सिंदूर – सिंदूर को बालों के बीचोंबीच मांग में लगाया जाता है। ये लाल और केसरिया रंग का होता है।

काजल- आंखों को खूबसूरत और बड़ा दर्शाने के लिए काजल का इस्‍तेमाल किया जाता है। माना जाता है कि ये बुरी आत्‍माओं को दूर रखती है।

Advertisement

नाक की नथनी- जिन महिलाओं की नाक छिदी होती है वे इसे पहनती हैं। हालांकि मार्केट में चिपकाने वाली नथनी भी उपलब्‍ध हैं।

चूडि़यां – ये महिलाओं का सबसे पसंदीदा आभूषण है जिसे हाथ में पहना जाता है। माना जाता है कि ये ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करती हैं।

Bangles
Bangles

हाथफूल – इसका इस्‍तेमाल अक्‍सर ब्राइडल मेकअप में किया जाता है। इसमें एक चेन होती है जो उंगलियों और कलाई को आपस में जोड़ती है।

Read More : ‘काली-पीली’ के लिए सड़कों पर उमड़ा नागपुर, 140  साल पुरानी है ये परंपरा: Kali Pili Marbat Nagpur

मंगलसूत्र – ये विवाहित होने का प्रतीक है जिसे महिलाएं अपने गले में पहनती हैं।

बाजूबंद – महिलाएं इसे अपने बाजू यानी आर्म में पहनती हैं। ये बेहद खूबसूरत होता है।

लिपस्टिक – लिपस्टिक को होंठो पर लगाया जाता है। ये कई रंगों में आती है।

बिछिया – बिछिए को पैरों की उंगलियों में पहना जाता है। ये चांदी का आभूषण है जो सुहागनों की निशानी है।

ईयररिंग्‍स – ईयररिंग्‍स को दोनों कानों में पहना जाता है। ये कई प्रकार के आते हैं जिसे ड्रेस की मैचिंग के साथ भी पहना जा सकता है।

Earrings
Earrings

कमरबंद- कमरबंद को कमर पर पहना जाता है। ये चांदी और सोने से बना हो सकता है।

गजरा – बालों को आकर्षक दर्शाने के लिए गजरे का इस्‍तेमाल किया जाता है। ये चोटी या बन में लगाया जाता है।

पायल – पायल को एंकलेट भी कहा जाता है। इसे पैरों में पहना जाता है। ये चांदी की बनी होती है।

मेहंदी – करवाचौथ पर मेहंदी का विशेष महत्‍व है। इसे हाथों और पैरों में आकर्षक पैटर्न के रूप में लगवाया जाता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement