For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

माइथोलॉजी और टेक्‍नोलॉजी का लाजवाब प्रयोग है नागा अश्विन की ‘कल्कि 2898 एडी’: Kalki 2898 AD Review

04:21 PM Jun 28, 2024 IST | Nisha Singh
माइथोलॉजी और टेक्‍नोलॉजी का लाजवाब प्रयोग है नागा अश्विन की ‘कल्कि 2898 एडी’  kalki 2898 ad review
Kalki 2898 AD Review
Advertisement

Kalki 2898 AD Review: प्रभास, अमिताभ बच्‍चन, कमल हासन, दीपिका पादुकोण और दिशा पाटनी की मल्‍टीस्‍टारर फिल्‍म ‘क‍ल्कि 2898 एडी’ रिलीज हो चुकी है। फिल्‍म अनाउसमेंट के बाद से चर्चा में बनी हुई है। इसके वीएफएक्‍स, कलाकारों के लुक्‍स और फ्यूचर में कलयुग का अंत करने आ रहे भगवान विष्‍णु के कल्कि अवतार का फिल्‍म से जोड़ना। दर्शकों का ध्‍यान इस फिल्‍म ने इन सभी बातों से अपनी तरफ खींचा। अब जबकि फिल्‍म रिलीज हो गई है तो फिल्‍म क्रिटिक्‍स की राय भी फिल्‍म के बारे में आ चुकी है। ऐसे में फिल्‍म देखने से पहले क्रिटिक्‍स की राय आपको फिल्‍म के बारे में जानने के साथ इसे देखने या न देखने का निर्णय करने में भी मदद करेगी। आइए जानते हैं कि आखिर क्रिटिक्‍स फैंस को ‘कल्कि’ के बारे में क्‍या राय दे रहे हैं।

Also read: दीपिका पादुकोण ने ‘कल्कि 2898 AD’ के ट्रेलर में फ्लॉन्ट किया बेबी बंप, वीडियो वायरल: Deepika in Kalki 2898 AD

फिल्‍म क्रिटिक कोमल नाहटा ने कल्कि की स्‍टोरी पर बात करते हुए फिल्‍म की कमजोरियों और खूबियों के बारे में बताया है। फिल्‍म महाभारत से कनेक्‍ट करके बनाई गई है। महाभारत में अश्‍वथामा को अमर रहने का वरदान मिला था। जो कि उनके लिए किसी श्राप से कम नहीं रहा क्‍योंकि उनके परिजनों के मरने के बाद युगों तक वे जिंदा रहेंगे। वे कलयुग में कल्कि अवतार को बचाएंगे। कोमल नाहटा के अनुसार फिल्‍म का फर्स्‍ट हाफ थोड़ा बोरिंग या स्‍लो है लेकिन सेकंड हाफ काफी अच्‍छा है। नाग अश्विन ने भारतीय सिनेमा में ऐसी दुनिया गढ़ने की कोशिश की है जिसके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता। फिल्‍म में वीएफएक्‍स काफी जोरदार है। अमिताभ बच्‍चन, दीपिका, प्रभास और कमल हासन की लाजवाब अदाकारी  की है। यही नहीं राजामौली, मृणाल ठाकुर, दुलकर सलमान जैसे कई कलाकार कैमियो में सरप्राइज एलीमेंट हैं। कुल मिलाकर ऐसी साइंस फिक्‍शन भारतीय सिनेमा में अब तक नहीं देखने को मिली है।

Advertisement

मशहूर फिल्‍म क्रिटिक अनुपमा चोपड़ा के अनुसार फिल्‍म दो हिस्‍सों में बंटी हुई है। एक जो एक तरफ बेहतरीन विजुअल्‍स, सेट और वीएफएक्‍स को दिखाती है तो वहीं दूसरी तरफ उसका नैरेटिव फ्लैट है। फिर भी नागा अश्विन की ये फिल्‍म साइंस और माइथोलाजी का एक साथ बेहतरीन प्रयोग किया है। फिल्‍म की कहानी कई जगह स्‍लो है। लेकिन ये एक बेहतरीन सिनेमैटिक एक्‍सपीरियंस वाली फिल्‍म है। अमिताभ बच्‍चन फिल्‍म में एंगी ओल्‍ड मैन के एक्‍शन अवतार में काफी प्रभावशाली लगे हैं। प्रभास और उनकी कार बुज्‍जी के बीज का बॉन्‍ड काफी मजेदार है। दीपिका और दिशा पाटनी भी काफी अच्‍छी रही है। कई जगह अश्विन किरदारों को पूरी तरह से स्‍थापित करने में सफल नहीं हुए है। हालांकि अनुपमा फिल्‍म को देखने के लिए सिफारिश करती हैं।

फिल्‍म क्रिटिक तरन आदर्श नागा अश्विन की फिल्‍म को एक शब्‍द में बयां करते हैं और वो है शानदार। उनके अनुसार नागा अश्विन ने एक ऐसी दुनिया दिखाने की कोशिश की है जिसे देख सांसें थम जाएंगी। उम्‍दा वीएफएक्‍स और अच्‍छाई से बुराई की लड़ाई की कहानी को एक अलग ही स्‍तर पर दिखाया गया है। सभी कलाकारों की परफार्मेंस काफी अच्‍छी है। अमिताभ बच्‍चन और कमल हासन जैसे कलाकारों की अदायगी को शब्‍दों में बयां नहीं किया जा सकता। फिल्‍म में कुछ कमियां भी हैं । हिंदी वर्जन में म्‍यूजिक खटकता है। वहीं इसका फर्स्‍ट हाफ भी काफी स्‍लो है। लेकिन फिल्‍म की स्‍टार पावर और नागा अश्विन की किंग साइज एंटरटेनर को देखना बनता है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement