For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

पोषक तत्वों से भरा है मानसून में मिलने वाला पोई का साग, जानिए रेसिपी: Benefits of Poi Saag

07:00 PM Jul 01, 2024 IST | Pinki
पोषक तत्वों से भरा है मानसून में मिलने वाला पोई का साग  जानिए रेसिपी  benefits of poi saag
Benefits of Poi Saag
Advertisement

Benefits of Poi Saag: सर्दियों में लोग पालक, मेथी, सरसों और बथुए का साग बड़े ही चाव खाते हैं। क्योंकि ये सीजनल होता है और इसमें आयरन, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन ए और मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। वहीं मानसून में मिलने वाला पोई का साग भी पोषक तत्वों के मामले में किसी से कम नहीं है। पोई के साग में फाइबर, कैल्शियम, विटामिन ए और आयरन पाया जाता है, जो हडियों, बालों और त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है। पोई के साग को मालाबार स्पिनच के नाम भी जाना जाता है। लेकिन कम लोग ही इसके फायदे और इसकी रेसिपीज के बारे में जानते हैं। इस लेख में हम आपको पोई के सेवन से मिलने वाले फायदे और इसके साग की रेसिपी बताएंगे।

Also read : विटामिन ए के लिए 12 सेहतमंद खाद्य पदार्थ: Vitamin A Rich Foods

पोई के फायदे

  • हड्डियों को मजबूती: इसमें कोई शक नहीं है कि पोई पोषक तत्वों का खजाना है। इसमें मौजूद कैल्शियम हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। इसका सेवन करने से हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसके नियमित सेवन से हड्डियों के रोग से बचने में मदद मिलती है।
  • हार्ट हेल्थ के लिए: इसमें मौजूद फाइबर आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। फाइबर आपके शरीर से बेड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है, जो आपके दिल की सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसका सेवन आपके दिल को स्वस्थ रखता है।
  • बूस्ट करे इम्यूनिटी: गर्मी के इस मौसम में इम्यूनिटी को बनाए रखना बहुत जरुरी है। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर की इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करते हैं।
  • त्वचा और बालों को बनाए स्वस्थ: इसमें विटामिन सी की अच्छी मात्रा पाई जाती है जो बालों और त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही पोई का सेवन करने से कॉलेजन उत्पादन में मदद मिलती है।

Read Also: कटहल में छिपा है सेहत का भंडार, जानें इसके फायदे: Jackfruit Health Benefits

Advertisement

पोई के साग की रेसिपी

Benefits of Poi Saag
Benefits of Poi Saag

सामग्री

  • पोई के पत्ते: 500 ग्राम
  • प्याज़: 1 बारीक कई हुई
  • टमाटर : 1 बारीक कटा हुआ
  • हरी मिर्च: 2 से 3 बारीक़ कटी हुई
  • लहसुन: 7 से 8 कलियां
  • साबुत लाल मिर्च: 4
  • जीरा: आधा चम्मच
  • हींग: 2 चुटकी
  • हल्दी: आधा छोटा चम्मच
  • नींबू; आधा
  • नमक: स्वादानुसार

विधि

Advertisement

सबसे पहले पोई के पत्तों को डंडियों से अलग करके धो लें। अब सभी पत्तों को एक गिलास पानी और नमक डालकर कुकर में उबाल लें। 2 से 3 सीटी लगाने के बाद गैस को बंद कर दें। अब साग को थोड़ा ठंडा कर मथनी से मथ लें। ध्यान रखे इसको मिक्सर में नहीं पीसना है, वरना इसका स्वाद बिगड़ सकता है। अब एक कढ़ाई को गैस पर गर्म कर उसमें तेल डालें। जब तेल गर्म हो जाये उसमें जीरा चटकाएं और हींग व लाल मिर्च डालें। अब उसमें कुचला हुआ लहसुन और कुचली हुई हरी मिर्च भूने। कुचलकर लहसुन और हरी मिर्च डालने से साग का स्वाद बढ़ जाता है। जब लहसुन और हरी मिर्च हल्की सी भुन जाए तो उसमें प्याज़ डालकर भूने फिर उसमें टमाटर और सभी मसाले डालकर भूने। जब ग्रेवी का तेल ऊपर आने लगे तो उसमें तैयार साग को उसमें डालकर अच्छी तरह पकाएं। जब साग से पकने की खुशबु आने लगे तो गैस को बंद कर दें। फिर उसमें आधा नींबू निचोड़ दें। तैयार साग को आप रोटी या चावल के साथ सर्व करें।

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement