For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

मां और बेटे के रिश्ते का प्रतीक है रेणुका मंदिर, जानें इसके पीछे की कहानी: Renuka Temple

11:30 AM Apr 30, 2024 IST | Sunaina
मां और बेटे के रिश्ते का प्रतीक है रेणुका मंदिर  जानें इसके पीछे की कहानी  renuka temple
Renuka Temple
Advertisement

Renuka Temple: मां और बेटे का रिश्ता कितना पवित्र और प्रेम से भरपूर होता है यह बात तो हमें बताने की आवश्यकता नहीं है। पुराने समय से ही मां बेटे को लेकर बहुत सारी कहानियां और किस्से प्रचलित हैं। इसी मां बेटे के प्रेम का प्रतिक है रेणुका मंदिर जोकि हिमाचल प्रदेश में स्थित है। आने वाले महीने में मदर्स डे आ रहा है और मां बेटे से जुड़े इस मंदिर और उसके पीछे की कहानी आप को जरूर पता होनी चाहिए। मां का अर्थ ही ममत्व, त्याग और समर्पण होता है। इस साल 12 मई को मदर्स डे मनाया जा रहा है। आइए बात करते हैं इस प्रसिद्ध मां बेटे के प्रेम के प्रतीक के मंदिर के बारे में जिसका नाम है रेणुका मंदिर।

Also read: इंटीरियर डेकोरेशन में नहीं खर्चने हैं लाखों रुपए तो ये बजट फ्रेंडली ऑप्शन आएगा आपके काम: Interior Decoration Tips

जानें इस मंदिर के पीछे की कहानी

यह मंदिर भगवान परशुराम और उनकी मां को समर्पित है। सप्त चिरंजीवियों में से एक परशुराम जी भी हैं और उन्हें शास्त्र और शस्त्र का ज्ञाता माना जाता है। वैसे तो इनके पूरे भारत में अलग अलग मंदिर हैं लेकिन एक ऐसा मंदिर है जो इनके और इनकी मां के बीच के प्रेम को दर्शाता है। यह मंदिर हैं रेणुका जी मंदिर। यहां रेणुका झील है और साथ में ही परशुराम जी का और उनकी मां का भव्य मंदिर भी है।

Advertisement

ऐसा कहा जाता है की हर साल कार्तिक के महीने में परशुराम जी अपनी मां जमाकोटी से यहां मिलने आया करते हैं। इस साल मदर्स डे पर आप अपनी मां के लिए यहां का ट्रिप प्लान कर सकते हैं और इस मंदिर में घूमने जा सकते हैं। इससे आप की मां को भी बहुत अच्छा लगेगा और आपकी एक छोटी सी ट्रिप भी साथ में हो जायेगी। यह दिन इस मंदिर में घूम कर आने से और भी खास बन जायेगा। इसलिए इस बार मदर्स डे पर कुछ खास जरूर करें।

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement