For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

आपकी बार-बार रूठने की आदत कहीं बिगाड़ न दे रिश्‍ते, इस तरह निपटें इस समस्‍या से

वे इस बात को समझते हैं कि उनकी ये आदत गलत है लेकिन कई बार वह इससे बाहर नहीं निकल पाते।
03:30 PM Aug 22, 2023 IST | Garima Shrivastava
आपकी बार बार रूठने की आदत कहीं बिगाड़ न दे रिश्‍ते  इस तरह निपटें इस समस्‍या से
Deal With Sulk
Advertisement

How To Deal With Sulk- हर छोटी-छोटी बात पर रूठना एक आदत है और कई लोगों के लिए एक नकारात्‍मक व्‍यक्तित्‍व की विशेषता। वे इस बात को समझते हैं कि उनकी ये आदत गलत है लेकिन कई बार वह इससे बाहर नहीं निकल पाते। रूठना एक ऐसी अवस्‍था है जहां व्‍यक्ति खुद को शांत करने की कोशिश करता है और दूसरों को उसकी गलती का अहसास कराने का प्रयास करता है। रूठना एक आदत है जो समय के साथ लत बन जाती है। व्‍यक्ति हर छोटे मुद्दों पर बच्‍चों पर चिल्‍लाने, सहकर्मियों को धमकाने, जल्‍दबाजी में काम करने और क्रोध में बात करने जैसा व्‍यवहार करता है। अधिक गुस्‍से और रूठने से कई बार रिश्‍ते भी प्रभावित होते हैं। खासकर पति-पत्‍नी का रिश्‍ता बिगड़ सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी इस आदत को बदलें और अपनी समस्‍याओं के बारे में परिवारजनों से बात करें। ये एक मानसिक समस्‍या है जिससे निपटा जा सकता है। तो चलिए जानते हैं रूठने की आदत को किस प्रकार कंट्रोल करें।

डायरी लिखें

write a diary
write a diary

जब कोई व्‍‍यक्ति रूठा हुआ होता है तो वह बात करने से कतराता है। वह शांत रहकर अपनी भावना व्‍यक्‍त करता है। जब आप किसी से रूठें तो एक डायरी मेंटेन करें जिसमें आप उन सभी बातों और भावनाओं के बारे में लिखें जो आप महसूस करते हैं या दूसरे को जताना चाहते हैं। इससे आपके मन का बोझ हल्‍का हो जाएगा और आप नॉर्मल फील करेंगे। डायरी लिखना एक अच्‍छी आदत है। यदि आप नियमित रूप से डायरी लिखेंगे तो हो सकता है कि आप रूठने की आदत से निजात पा लें।

ओवररिएक्‍शन से बचें

जब आप किसी से रूठे होते हैं तो सामने वाला व्‍यक्ति आपके गुस्‍से को शांत करने और चियरअप करने की कोशिश कर सकता है। ऐसे में आप ओवर रिएक्‍ट करने से बचें। ओवररिएक्‍शन से आपका गुस्‍सा बढ़ सकता है और मामला अधिक बिगड़ सकता है। इसलिए जो हो रहा है उसे नजरअंदाज करें और खुद को अन्‍य कामों में बिजी रखें।

Advertisement

यह भी पढ़ेंः किस दिन कौनसा काम करने से मिलती है सफलता? जानें शास्त्रों में दर्ज ये बातें: Vastu Shastra

ट्रिगरिंग सिचुएशन से दूर रहें

stay away from triggering situations
stay away from triggering situations

ट्रिगरिंग सिचुएशन से दूर रहना आपके क्रोध पर नियं‍त्रण रखने का एक शानदार तरीका हो सकता है। जब आप किसी बात पर रूठे हों तो अपने रुटीन से ब्रेक लें और कुछ समय अकेले सुखद वातावरण में बिताएं। आपके मस्तिष्‍क और शरीर को शांत करने में मदद करने के लिए टाइम-आउट महत्‍वपूर्ण हो सकता है। ट्रिगरिंग सिचुएशन से दूर रहने से आपको कूल डाउन होने में भी मदद मिल सकती है।

Advertisement

माइंड को करें डायवर्ट

एक परेशान करने वाली स्थिति के बारे में बार-बार सोचना क्रोधित भावनाओं को बढ़ावा देता है। शांत होने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि आप अपने माइंड को डायवर्ट करें। किसी अन्‍य चीजों पर ध्‍यान केंद्रित करें। जहां तक हो सके खुद को बिजी रखें। नकारात्‍मक विचार आपको और अधिक विचलित व परेशान कर सकते हैं। माइंड डायवर्ट करने के लिए आप अपनी हॉबीज को भी बढ़ावा दे सकते हैं।

करें ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज

अपने क्रोध को शांत करने के लिए एंगर मैनेजमेंट एक्‍सरसाइज का अभ्‍यास करें। इसके लिए आप ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज का सहारा ले सकते हैं। ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज करने से आप तनाव को तुरंत कम कर सकते हैं। एक्‍सरसाइज करने से मानसिक स्थिति में भी सुधार आता है और आपका गुस्‍सा समय के साथ कम होने लगता है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement