For the best experience, open
https://m.grehlakshmi.com
on your mobile browser.

अपनी नई बहू के साथ कैसे रिलेशन करें मेंटेन: Relationship Advice

03:30 PM Jan 09, 2024 IST | Yasmeen Yasmeen
अपनी नई बहू के साथ कैसे रिलेशन करें मेंटेन  relationship advice
Relationship Advice
Advertisement

Relationship Advice: अगर आप वो सास बनना चाहती हैं जो बहू की जिंदगी की कहानी में विलेन न बनकर एक हीरो का रोल प्ले करे तो आपके लिए यह आर्टीकल काफी काम का हो सकता है। सबसे पहली बात आप अपनी बहू को लेकर किसी भी किस्म की धारणा बनाने को लेकर बचें। यह सच है कि हर घर के अपने तौर तरीके होते हैं। और आप नहीं सिखाएंगी तो उसे कौन बताएगा। लेकिन उस नए सदस्य को थोड़े समय की जरुरत होती है। आप इस बात पर भी ध्यान दें कि वो अपना सब कुछ छोड़कर आपके साथ बसने आई है। ऐसे में इस पौधे रूपी रिश्ते को अपने प्यार से सींचें।

Also read : बहू जब करने लगी मनमानी

उसकी मां बने

Relationship Advice
Relationship Advice-become his mother

अपनी बहू को फोन पर मां से मीठी-मीठी बातें करते देख अक्सर सास को बुरा लगता है। वह सोचती है कि वह कभी हमसे इस तरह बात नहीं करती और जब अपनी मां से बात करती है तो देखती है कि कितनी चहक रही है। क्या आपने कभी सोचा है आखिर ऐसा क्यों होता है? अगर नहीं तो अब सोचें।अपनी बहू को भी अपने बच्चों की तरह लाड़-प्यार दें। कभी उसकी पसंद की डिश बनाकर उसे सरप्राइज दें, तो कभी जब वह थका हुआ महसूस करे, उससे पूछें कि क्या उसे कोई समस्या है? अगर बहू को कभी बुखार, सर्दी या पीरियड्स हो तो उसे आराम करने और उसका ख्याल रखने के लिए कहें। वह घर पर जो भी काम करती है, अगर उन कामों को करने में कभी-कभी देर हो जाती है तो वह काम खुद ही कर लें। जब आप ऐसा व्यवहार करेंगे तो आपकी बहू के मन में आपके लिए सम्मान और प्यार होगा और वह आपका दिल से ख्याल रखेगी। याद रखें कि वो आपकी नहीं आपके बच्चों की उम्र की है।

Advertisement

कुछ सख्त बात करने से पहले सोचें

भई हमारे घर में तो ऐसा ही होता है। कितनी ही बार कितनी ही बहुओं को यह डायलॉग सुनने को मिलता है। आप जानती हैं जब इस तरह का वाक्य बोला जाता है न तो वह लड़की खुद को बाहर वाला ही महसूस करती है।अगर आप भी ऐसे ताने मारती हैं तो इसे बंद कर दें। आपके तानों की वजह से बहू को एक घुटन का अहसास होता है। उस समय वह खुद को अकेला महसूस करती है। उसे मां और उसके प्यार की याद आती है और वह अपने माता-पिता के घर जाने के लिए तरसती है। ऐसे में वो आपके साथ होकर भी साथ नहीं हो पाती। इस तरह की बातें अगर लगातार चलती रहती हैं तो वह धीरे-धीरे करके आपसे एक किस्म की दूरी बना लेती है।और फिर जब वह बार-बार मायके जाने की जिद करती है तो आपको बुरा लगता है और सोचते हैं कि वह बार-बार वहां क्यों जाना चाहती है? अगर आप अपने स्वभाव को थोड़ा एडजस्ट करें, उसे आजादी दें।

उसे अपनेपन का अहसास दें

हर लड़की सपने में अपने ससुराल की कल्पना करती है। वह अपने कमरे को अपने तरीके से सजाना चाहती हैं। वह किचन या लिविंग रूम में अपनी पसंद की नई चीजें भी जोड़ना चाहती हैं। ऐसा करने से उन्हें उस नए घर में अपनापन भी महसूस होता है। लेकिन अक्सर देखा जाता है कि जब बहू कुछ बदलने की कोशिश करती है तो सास उस पर गुस्सा हो जाती है और कहती है कि सब पुरानी चीजें फेंक दो, बदल दो। हमें बाहर निकालो, हम भी बूढ़े हो गये हैं। इन बातों से डरकर बहू कुछ भी बदलने से डरती है और फिर उसे घर में परायापन महसूस होता है। आप समझें इस बात को यह घर अब उसका भी हे तो उसे भी अधिकार है अपने अनुसार उस घर को सजाने का। जब वह घर को खुद सजाएंगी तो उसे वह घर बहुत पसंद आएगा। साथ ही जब आप उसकी इस भावना का ख्याल रखेंगे तो वह पुरानी चीजों को फेंकेगी नहीं, आपकी उन चीजों का ख्याल रखेगी, जिनसे आपकी भावनाएं जुड़ी हुई हैं।

Advertisement

बेटी और बहू में फर्क न करें

जब भी आपको अपनी बहू की कोई बात पसंद न आए तो उसे डांटने या दिल से नफरत करने से पहले रुकें और दो मिनट रुकें और सोचें कि अगर मेरी बेटी ने ऐसा किया होता तो क्या मैं भी ऐसी ही सोचती? याद रखें कि आपकी बहू भी किसी की बेटी है और आपकी बेटी भी एक दिन अपने ससुराल जाएगी। अगर आप चाहते हैं कि आपकी बेटी के साथ अच्छा व्यवहार हो तो सबसे पहले आपको खुद को बदलना होगा। आप खुद सोचें कि आप बेटी को मॉडर्न कपड़े पहनने से नहीं रोकते, उसे देर से उठने पर नहीं डांटते, तो बहू के साथ ऐसा व्यवहार क्यों? अगर आप उसे बार-बार ऐसे ही टोकते रहेंगे तो आप खुद अपना आंकलन करें कि वो क्या आपको अपना समझ पाएगी।

बहू को यह न लगे कि वह सिर्फ घर की नौकरानी है

Relationship
The daughter-in-law should not feel that she is just a maid of the house.

मान लीजिए कि आप बूढ़े हैं और आपको भी आराम की जरूरत है, लेकिन आपको घर के सारे कामों का बोझ नई नवेली बहू पर नहीं डालना चाहिए। उस पर सारा बोझ डालकर आप या तो आराम करते हुए या टीवी देखकर दिन बिताते हैं। यह बिल्कुल भी सही नहीं है। अगर आपसे काम नहीं हो पा रहा तो उसकी हेप् के लिए किसी बाई का प्रबंध करें। लेकिन उसके आते ही आप कामों से रिटायरमेंट न लें। वरना बहू को भी लगता है कि मुझे इस घर में काम करने के लिए ही लाया गया है। ऐसे में कई लड़कियां अक्सर तनाव में रहती हैं और उल्टा जवाब देने पर मजबूर हो जाती हैं कि क्या मैं इस घर की नौकरानी हूं? या फिर मुझे नौकरानी बना कर रखा है। अगर घर में बहुत मेहमान आ जाएं तो आप उसके साथ काम करवाएं। अगर वह थकी हुई लग रही है तो उसे कहें कि आज तो बेटा तुम पर बहुत काम पड़ गया। यह कुछ छोटी लेकिन अहम बातें हैं। अगर आप इन्हें अपनाएंगी तो अपने और अपनी बहू के रिलेशन को हमेशा के लिए अच्छा कर सकती हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement